बिहार का लाल,कम उम्र में उड़ाएगा हवाई जहाज,व प्राथिमक स्कूलों की भर्ती के लिये बिहारी होना अनिवार्य

0Shares

बिहार का लाल,कम उम्र में उड़ाएगा हवाई जहाज,व प्राथिमक स्कूलों की भर्ती के लिये बिहारी होना अनिवार्य

बिहार राज्य,बेगूसराय जिले का मीनापुर निवाशी 22 वर्षीय आदित्य कुमार अब उड़ाएंगे हवाई जहाज। आदित्य के पिता कमलानन्द सिंह ने खुशी जाहिर की गाँव व जिले का नाम रोशन किया उनका बेटा। बताते चले कि कमर्शियल पायलट ट्रेनिग पूरा कर लिया है।जिसके बाद विवान को उड़ान भरने के लिये तैयार है।इतना कम 22 साल की उम्र में ये उपलब्धि प्राप्त कर लेना एक बड़ी बात है।गाव जिले बिहार से इनहु सराहना भी मिल रही है । बिहार के साथ बेगूसराय जिला के गर्व की खबर है।

22 वर्षीय आदित्य
इनकी पढ़ाई सुरु से ही सरकारी स्कूलों से हुई है। C.A.B.S. बिद्यालय खमहर से 12वी की पढ़ाई पूरी की है। सुरु से ही आदित्य का शोख था कि हम भी आसमान में उड़े। लगन कोशिस हो उसे कोई कैसे रोक सकता। उनका बड़ा भाई वरुण कुमार ने भी हर छोटे बड़े परेसानी से निजात दिलाई इनके पिता एक छोटा किसान है। जिसके बाद आज परिवार का लाल पूरे बिहार का

नाम रौशन किया।
बिहार शिक्षक की भर्ती की नये नियम
बिहार सरकार का एलान की अब पंचायत के प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक की बहाली अब बिहार वाले ही पात्र है।बाहर राज से आने वाले शिक्षक को इसके लोय पात्र नही माना जाएगा। बिहार राज्य के शिक्षा विभाग ने प्रेस वार्ता कर ये अस्पष्ट किया कि,बिहार के लागभग 72 हज़ार प्राथिमक स्कूलों में अब बिहार के शिक्षक ही बन पाएंगे।

बिहार सरकार
हम बताते चले कि 18 अगस्त को बिहार के मुख्यमंत्री ने भी केबिनेट बैठक किये थे। और बिहार सरकार के तरफ से कहा गया था कि प्रारंभिक विद्यालय,पंचायत प्रारंभिक विद्यालय मे खाली पदों पर बिहार वाले ही इसका आवेदन कर सकेंगे।इसका नियम भी बन गया है। साथ ही बताते चले कि मध्यप्रदेश सरकार ने भी बोल चुके है कि राज्य के सभी सरकारी नोकरियों पर राज्य के लोगो का हक होगा।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *