तुर्की के राष्टयपति रजब तैयब ने एक और चर्च को मस्जिद में बदल,शुक्रवार को 86 साल बाद कि गई नामज अदा

0Shares

तुर्की के राष्टयपति रजब तैयब ने एक और चर्च को मस्जिद में बदल,शुक्रवार को 86 साल बाद कि गई नामज अदा

तुर्की के राष्टयपति रजब तैयब एरदुगान दुनिया के जानी मानी नाम है। मीडिया के अनुसार शुक्रवार को दिन एक चर्च को मियूजियम से मस्जिद में बदल दिया। आज अब नामज अदा किया जाएगा। हम आपको बताते चले हाल ही के प्राचीन चर्च को मस्जिद में बदल दिया। जिसका नाम हादिया सूफिया मस्जिद रखा गया था। जिसके बाद ये दूसरी चर्च को मस्जिद में बदल दिया गया। सूफिया मस्जिद के ठीक एक महीने बाद केरी मियूजियम नाम से जाने जाना वाला अब उसे मस्जिद में तबदील कर दिया गया था जहाँ अब नामज अदा होती है। एक के बाद एक लगातार चर्च को मस्जिद में बदलने वाला तुर्की के राष्टयपति रजब तैयब एरदुगान दुनिया के खबर खुब आलोचना भी होती रही है।

तुर्की के एक चर्च ऑफ the होली,चौदहवी शताब्दी में बना ये चर्च इसका इतिहास में चर्चा हुवा करता था।इसका महत्वपूर्ण पेंटिंग को आज भी इतना पुराने नही दिखाने वाला चर्च ऑफ द होली को मियूजियम में बदल कर मस्जिद में बदल दिया गया। बताया जाता है कि सन 1453 में ओटोमन तुर्को इसे एक मस्जिद में बदल दिया था।जिसके बाद 1958 में अमेरिका के मददत चर्च में बदल दिया गया जिसके बाद इसे फिर से रजब तैयब एरदुगान ने इबादत करने के लिये मस्जिद में बदल दिया गया।

तुर्की के आइया सोफिया मस्जिद में ठीक 86 साल बाद जुमे के दिन जुमे के लिये खोल दिया गया।इस मस्जिद में नामज अदा करने बच्चे समेत लाखो लोगो का भीड़ उमड़ी और सब मिल कर जुमे की नामज अदा किए। लंबे समय के कहानी को सच होते और मीनार से अजाने की आवाज़ सुनते कोई लोगो की आँख से आंसू तक टपक पड़े थे।

बताये चले कि रजब तैयब एरदुगान ने सन 1934 में बने कानून को पलट दिया।यह इमारत 6वी शताब्दी में बनाया गया था। अब इसे मस्जिद के अलावा कोई नही बदल सकता कानून बना दिया।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *